केसर की खेती कैसे करे


kesar ki kheti kaise kare |

जाफ़रान (केसर) की खेती कैसे करे


मेरे देश की धरती सोना उगले- उगले हीरे मोती मनोज कुमार पर फिल्माया गया ये महेंद्र कपूर   का सदाबहार  गाना हमने कई बार सुना होगा  और हम सब के जेहन में  भी होगा  आज हम इसी गाने को वास्तविकता में सिद्ध करने वाली खेती  पर बात करेगे  की कैसे हम इस धरती से सोने की तरह कीमती केसर की खेती कैसे करे
Advertisement
केसर जो की एक आयुर्वेदिक हर्बल और मुनाफे वाली खेती है जिसे की हम कुछ जानकारियों के बाद अपने  घर पर  अपने गार्डन और गमले भी   में भी लगा सकते है  बस जरुवत है तो इसकी सही जानकारी की तो  चलिए मित्रो  आज बात करते है केसर  क्या है और कैसे  की  जाती है   केसर की खेती 
 केसर जिसे की कश्मीर और पाकिस्तान में जाफरान  के नाम से भी जाना जाता है और इसे ही अंग्रेजी में  सेफ्रॉन (saffron) कहते हैं। जो की हिंदुस्तान में केशर के नाम से जाना जाता है  और वैसे इसका वानस्पतिक  नाम Crocus sativus  है केसर जो की स्पेन ,इटली ,ईरान,पाकिस्तान ,चीन  और भारत में  जम्मू -कश्मीर ही इसका सबसे बड़ा  क्षेत्र है  जहा पर केसर की खेती की जाती है

 केसर जिसे की कश्मीर और पाकिस्तान में जाफरान  के नाम से भी जाना जाता है और इसे ही अंग्रेजी में  सेफ्रॉन (saffron) कहते हैं। जो की हिंदुस्तान में केशर के नाम से जाना जाता है  और वैसे इसका वानस्पतिक  नाम Crocus sativus  है केसर जो की स्पेन ,इटली ,ईरान,पाकिस्तान ,चीन  और भारत में  जम्मू -कश्मीर ही इसका सबसे बड़ा  क्षेत्र है  जहा पर केसर की खेती की जाती है

केसर के फायदे-केसर ना केवल हमारे भोजन के स्वाद, सुगन्ध और रंगत बदलने के काम आता है बल्कि ये हमारे स्वास्थ के लिए भी बहुत फायदेमंद है
जो की हमारे पाचन सिस्टम से लेकर  हमारी आँखों ,सिर और स्किन के साथ हमारी शाररिक शक्ति को बढाने ,अच्छी नीद ,और दवाईयों को बनाने में भी उतनी ही मदद करता है
केसर का उपयोग कैसे करे-केसर को खीर ,मिठाईयां,बिरयानी ,और दूध के साथ पीने में उपयोग लिए जा सकते है 
केसर का पौधा- केसर का पौधा जामुनी रंग  का होता है जो की फुल के रूप में होता है  ये  करीब 9-10 cm का होता है
केसर का मूल्य /कीमत – केसर की कीमत की बात करे तो  1 किलो केसर करीब १लाख से 3 लाख तक  की कीमत तक मिलता है  इसी लिए केसर को ”लाल सोना” भी कहते है 
केसर  महंगा क्यों है / why is saffron expensive  ये सवाल अक्सर  पूछा जाता है की केसर  इतना महंगा क्यों है दुनिया भर की कुछ चुनिदा जलवायु ही इसके अनुकूल होने की वजह से हर जगह इसकी खेती नहीं की जा सकती जिसके फलस्वरुप इसकी पैदावार बहुत कम होती है और इसके  बहुत से आयुर्वेदिक फायदे होने  की वजह से इसकी मांग बहुत ज्यादा होती है 
असली केसर की पहचान कैसे करे – केसर के इतने महंगे होने के बाद इसको हमारे भोजन में शामिल करने के बाद हमेशा ये डर बना रहता है की हम जो केसर उपयोग कर रहे है वो  असली है या नकली ? हम कैसे पहचाने की कोन सा केसर असली है ?
केसर की पहचान करने का एक बहुत ही आसन तरीका है एक सफ़ेद पेपर पर हम केसर के एक टुकड़े को लेकर उस पर 2-3 बूंद ठंडा पानी डालेगे  जिससे की ये होगा केसर में से हल्का सा पिला रंग निकले गा  और पानी पिला हो जायेगा  और केसर अपने  मूल लाल  रंग  में ही रहेगा अगर ये केसर अपने मूल रंग से   बदलता हुआ लगता है तो ये नकली हो सकता है
 

केसर की खेती कैसे करे –

केसर की खेती  लिए दोमट मिट्टी सबसे उत्तम मानी जाती है इसकी खेती अगस्त माह के आस पास बोई जाती है जिसके लिए शीतोष्ण  और सूखी जलवायु जरुरी होती है केसर की खेती केसर के पोधे के कंद से की जाती है जिसे की बल्ब भी कहा जाता है 
केसर की फसल  कटाईकेसर की बुवाई जुलाई के मध्य में करने पर ये अक्टूम्बर में  फुल के रूप में हमे मिलता है  फुल खिलने के बाद  इन्हें तोड़ कर 4-5 घंटे  छायादार स्थान पर सुखाया जाता है  हर फुल में 3 केसर होते है जो की लाल रंग के होते है इसके अलावा 2 नारंगी रंग के भाग होते है जिन्हें की  छाट कर अलग कर दिया जाता
इस तरह 3 महीने में पक कर तैयार होने वाली केसर की ये फसल  के  हर  फूल में मिलने वाले   केसर के  1 किलो होने के लिए हमे ऐसे 150,000 फूलो से ये  हमे मिल जाते है 

केसर का बीज / saffron seeds केसर  की खेती बल्ब के अलावा बीज से भी की जाती है का बीज जो की दिखने में निम्बू  के बीज की तरह होता है जो की  आसानी से बाजार में मिल जाता है 
केसर का बल्फ/ saffron bulbs केसर की खेती में केसर का बल्फ को जमीन में बोया जाता है जो की दिखने में प्याज  की  जड़ो  की तरह होता है 

 यहाँ से खरीदे अभी खरीदे  –

http://amzn.to/2j0puR1

केसर की खेती राजस्थान और महाराष्ट्र में  
 केसर की खेती  ठन्डे मोसम में होने वाली फसल है जो की भारत में केवल कश्मीर ही इसके अनुकूल है पर पिछले कुछ सालो में देश के राजस्थान और महाराष्ट्र के जलगांव ,जैसे गर्म इलाके में इसकी खेती  कर  कुछ किसानो को ने देश के सभी किसानो को  चकित कर दिया  और साथ ही ये उम्मीद जगा दी की  देश के हर हिस्से में केसर की खेती की जा सकती है जरुवत केवल सच्ची लगन और सही जानकारी की है 

महाराष्ट्र  और राजस्थान  दोनों  राज्य में केसर की खेती के जो परिणाम आये उसमे मिट्टी की उर्वरक शक्ति बढ़ाने और सिचाई पर ध्यान दे कर ये करिश्मा कर दिखाया 
उम्मीद करते है मित्रो ये लेख आपके लिए उपयोगी रहा होगा  आप अपनी राय कमेंट कर जरुर बताये धन्यवाद!!

केसर की खेती से जुड़ा ये 4 मिनट का वीडियो अवश्य देखे ↴

अमेरिकन केसर की  खेती के लिए  यहाँ क्लिक कर पढ़े !!

19 thoughts on “केसर की खेती कैसे करे”

  1. Sir mere pass jamin h to mujhe keser ka beej chahye my contact No. 9050880509 Haryana dist palwal village Seloti

    Reply
  2. अमेरिकन लैब से टेस्टेड और सर्टिफाइड केसर के लिए कांटेक्ट करें 8373995541 और विजिट करें http://www.kingkesariya.co.in

    Reply
  3. सर जी मध्यप्रदेश में खरगोन जिले में केसर की खेती करना कैसा है

    Reply
  4. मुझे बताए कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जलवायु में केसर की खेती की जा सकती है क्या?

    Reply

Leave a comment